Monday 3 March 2008

वीरु का रिश्ता आईटी के जमाने में

वीरु आईटी कंपनी में काम करता है। जय मौसी को पास वीरु का रिश्ता मांगने जाता है।

JaiMauseeSholay

जय : मौसी, लड़का डोट कोम कंपनी में काम करता है।
मौसी : हाय राम ..!!! और कोई कंपनी में कोशिश कर रहा है क्या??


जय: कहां मौसी, 2 साल डोट कोम में रहने के बाद कोई कंपनी लेती कहां है...
मौसी : हाय राम तो क्या 2 साल से डोट कोम में ही है ..

जय : हां सोचा था 2 साल मे पगार बढ़ेगी ही। आजकल को पगार भी ज्यादा नहीं मिल रही है उसे ..
मौसी : तो क्या पगार भी कम मिलती है..?

जय : अब अप्रेजल भी तो आसानी से कहां होती है मौसी..
मौसी: हाय हाय ...!! तो क्या अप्रेजल भी नहीं होता उसका..?

जय : सीनियर से लड़ाई करने के बाद अप्रेजल में अच्छी रेटिंग तो नहीं मिलती है.. मौसी..


मौसी : तो क्या, सीनियर से लड़ता भी है..?
जय : अब 2 साल तक ऑन-साइट जाने को न मिले तो हो जाती है कभी कभी अनबन..

मौसी : तो क्या अब तक एक बार भी ओनसाइट नहीं गया...???
जय : अब आउटडेटेड टैक्नोलोजी के डवलपर की किस्मत में तो यही लिखा है मौसी..

मौसी: क्या कहा लड़का आउटडेटेड टैक्नोलोजी में काम करता है..!!!
मौसी : कौन सो कॉलेज से पढ़ाइ की है..?
जय : उसका पता लगते ही हम आपको खबर कर देंगे!!

जय: तो मैं रिश्ता पक्का समझूं मौसी.???
मौसी : बेटा, कान खोल कर सुन ले... सगी मौसी हूँ.. बसन्ती की कोइ सौतेली मां नहीं .. भले ही हमारी बसन्ती कॉल सेंटर वाले चन्दू से शादी कर ले पर डोट कोम के डवलपर से कतई नहीं करेगी।

2 comments:

Udan Tashtari said...

हा हा!!! बहुत खूब...क्या कल्पनाशीलता है भाई...मजा आ गया.

PD said...

kya aapne ye post dekhaa hai?? aapke post se milta julta hai..
:)
http://prashant7aug.blogspot.com/2008/02/blog-post_15.html