Monday 9 July 2007

बहादुर मर्द

3 दोस्त रेस्तरां में बैठ कर बातें कर रहे थे। उनमें से 2 अपनी पत्नी को कितना नियंत्रण में रखते हैं, इस विषय पर बात कर रहे थे जबकि तीसरा एकदम चुप था। कुछ देर बाद उन दोनों ने तीसरे व्यक्ति से पूछा "अच्छा बताओ, तुम्हारा अपनी पत्नी पर कितना जोर चलता है?"

तीसरे व्यक्ति ने कहा "अब क्या बताऊं, अभी पिछली रात का ही बात है मेरा पत्नी दोनों हाथ जोड़े, घुटनों के बल चल कर मेरे पास आई।"

पहले दोनों व्यक्तियों ने आश्चर्य से पूछा "फिर क्या हुआ?"

तीसरा व्यक्ति छाती चौड़ी कर बोला "कुछ नहीं, उस ने मुझ से कहा कि बिस्तर के नीचे से बाहर निकलो और मर्द की तरह मेरा सामना करो।"

2 comments:

Shrish said...

हिन्दी चिट्ठाजगत में स्वागत है आपका। ऐसे ही हँसते-हँसाते रहिएगा।

हरिमोहन सिंह said...

मजा आया । आशा है लिखते रहेगें ।